WiFi क्या है और यह कैसे काम करता है ?

WiFi क्या है और यह कैसे काम करता है ?

WiFi full form क्या है? यदि आप Wifi full form जानना चाहते हैं, तो हमेशा की तरह इस पोस्ट पर बने रहिए. आज हम आपको WiFi full form क्या है और अन्य वाईफाई के बारे मे जानकारी देंगे.

WiFi और Wifi full form के बारे में आप सभी जानते होंगे लेकिन क्या आपको यह भी पता है कि वाईफाई क्या है (What is wifi in Hindi)? इसके कितने प्रकार होते है? और इसका कैसे उपयोग करें?

हालांकि की दुनिया में Internet को दुनिया में आए तो बहुत से वर्ष हो गए हैं. लेकिन क्या आप जानते हैं उस समय में इसका कनेक्शन लेना बहुत कठिन था.

Network के माध्यम से ही Internet पैदा हुआ है. नेटवर्क से पहले के समय में केबल के माध्यम से ही जानकारी को भेजा जाता था. उस समय में केवल से ही Internet का Conection लिया जाता था.

नेटवर्क में रोज नए परिवर्तनों के कारण Computer साइंटिस्टो ने आखिरकार wifi के नाम से वायरलेस Technology को बना डाला. आज के समय में सभी लोग इस टेक्नोलॉजी को जानते हैं. आज के युग में इस तकनीकी का विस्तार बढ़ता जा रहा है.

वाई-फाई क्या है – Wifi in Hindi ?

Wifi का पुरा नाम “वायरलेस फिडेलिटी” होता है जो एक लोकप्रिय नेटवर्क टेक्नोलॉजी है. यह एक ऐसी तकनीकी है जिसके माध्यम से हम Internet का उपयोग कर रहे हैं.

यदि हम आसान भाषा में समझे तो Wifi एक ऐसी Technolgy है जिसके माध्यम से हम Computer, Phone, laptop में बिना किसी वायर के Internet की सुविधा को प्राप्त करते हैं.

यह भी पढ़ें-

1.सॉफ्टवेयर क्या है और यह कितने प्रकार का होता है ?

2.Keyboard क्या होता है और इसके कितने प्रकार होते है ?

3.Tesla Company क्या है और यह क्या काम करती है ?

इस तकनीकी के माध्यम से हम किसी भी स्थान या जगह पर Internet से जुड़े सकते हैं. इस समय में हर व्यक्ति किसी भी जगह पर इंटरनेट से जुड़े रहता है. Wifi तकनीकी के माध्यम से हम DATA को भी बिना तार के एक जगह से दूसरी जगह भेज सकते हैं.

WiFi का full Form in Hindi ?

वाई-फाई का Full Form “Wireless Fidelity” होता है.

WiFi का आविष्कार :

वाई-फाई का आविष्कार सन 1991 के दशक में जॉन डेने और जॉन सुलिवेन ने किया था.

WiFi का इतिहास :

वाई-फाई की शुरुआत 1985 में हुई थी. संयुक्त राज्य अमेरिका FCC की घोषणा के अनुसार कोई भी व्यक्ति बिना लाइसेंस के वायरलेस Frequency का उपयोग कर सकता है.

इस तकनीकी से हस्तक्षेप की समस्याओं को हल करने में विफल हो गई. क्योंकि उस समय में Mobile से पहले Radio का उपयोग था जिसके कारण सिग्नल बहुत प्रभावित रहा.

उसी समय में एक नई तकनीकी का आविष्कार हुआ जिसका नाम वायरलेस लोकल एरिया नेटवर्क था. जिसमें बहुत सी Technology समस्या थी. इस WLAN मे उपकरणों को जोड़ने में बहुत सी समस्याओं का सामना करना पड़ा.

1988 के समय में मानक 802.11 DATA स्थानांतरण की speed लगभग 2 मेगा बिट प्रति सेकंड थी. 802.11 DATA मानक को 1999 मैं प्रकाशित किया गया था.

इस समय के बाद इसका अगला संस्करण प्रकाशित हुआ, जिसका 802.11B नाम था. इस तकनीकी को WiFi द्वारा लांच किया गया था.

जब 802.11B कुछ समय में लोकप्रिय होने से वायरलेस तकनीकी में इसका प्रसार बहुत पड़ गया. इसके बाद 6 कंपनियों ने मिलकर वायरलेस इंटरनेट कंपैटिबिलिटी एलायंस का गठन किया.

WiFi शब्द 2002 में HIFi और Wireless शब्द से लिया गया था जिसका नाम कुछ ही दिनों बादWiFi से जाने जाने लगा.

Wifi मानक in Hindi

1. IEEE 802.11A
इस मानक को IEEE ने वर्ष 1999 में बनाया गया था, जिसकी आवृत्ति 5 Ghz की Frequency पर 11 Mbps की speed से कार्य करता था.

2. IEEE 802.11B
इस मानने को घरेलू उपयोग के लिए 1999 मे बनाया गया था, जिसकी आवर्ती 5Ghz की Frequency पर 11Mbps की speed से कार्य करता था.

3. IEEE 802.11G
इस मानक को 802.11B व 802.11B ने मिलकर 2003 मे इसे से बनाया था, जिसकी आवृति 5Ghz की Frequency 11Mbps की speed से कार्य करता था.

4. IEEE 802.11N
इस मानक को आवर्ती राउटर पर कार्य करने के लिए वर्ष 2009 में बनाया गया था, इसकी frequency 2.4Ghz से 5 Ghz पर 54 Mbps की गति थी.

5. IEEE 802.11 AC
इस मानक को वर्ष 2009 में बनाया गया था, जिसकी Frequency 5Ghz पर 13 Gbps कि speed से कार्य करती थी.

WiFi एक मानक होता है. हम Standred के माध्यम से Computer को Network से जोड़ते हैं. इस समय के सभी उपकरण जैसे- Laptop, phone और कम्प्यूटर के पास एक Wifi चिप होती है. जिसके माध्यम से ही हम इन सभी Divaes को वायरलेस Router से जोड़कर का Network का उपयोग करते हैं.


Wifi के features in Hindi

हमारे पास बहुत से तरीके हैं जिनके माध्यम से हम Internet का उपयोग कर सकते हैं.

1.Efficiency:

जब तक कोई Technology किसी भी कार्य में पूर्ण कार्यशील नहीं होती है तो हम उसको कुशल नहीं कहते हैं. आजकल के समय में हर कोई Internet के लिए cellular नेटवर्क का उपयोग कर रहा है क्योंकि इसका क्षेत्रफल अधिक होता है.

जब हम Mobile में Network से जुड़ते हैं और चलते वाहन मे Imternet के उपयोग हमारे मोबाइल की बैटरी अधिक समाप्त हो जाती है.

Wifi में Network के लिए Radio Waves का उपयोग किया जाता है. इसमें हमें वाई-फाई के लिए एक डिवाइस राउटर की आवश्यकता होती है जिससे यह अधिक speed से नेट सेवा प्रदान करता है.

2.Accessibility:

सभी Network कंपनियों की Data योजना अलग-अलग होती है. यदि हम Mobile की बात करें तो इसमें डाटा कुछ Gb में ही मिलता है. यदी हम राउटर की बात करें तो हम इसमें 50 जीबी से अधिक डाटा प्राप्त कर सकते हैं.

3.speed:

अगर हम नेटवर्क की speed के मामले में Mobile net और Router net के Speed की बात करें तो राउटर का स्पीड ज्यादा होता है. साधारण काम में मोबाइल नेट की गति सही रहती है परंतु ज्यादा लोड वाले Video और game मैं से ज्यादा तेज कुछ नहीं होता है.

4.Cost:

पहले के समय से ज्यादा अब के समय की मोबाइल बिल लागत बढ़ गई है. पहले लोग Network का उपयोग सोच समझ कर करते थे. लेकिन अब लोग Free DATA का उपयोग करते हैं.

यदि आप wifi नेटवर्क का उपयोग करते हैं तो आपको कम कीमत में Mobile से अच्छा डेटा offer मिल जाएगा.

WiFi तकनीकी कैसे काम करती है ?

इस समय में हर लोग ज्यादा net की speed प्राप्त करने के लिए wifi का उपयोग कर रहे हैं. लेकिन क्या आप जानते हैं कि यह तकनीकी कैसे Work करती है. यदि नहीं जानते हैं तो अब जान लीजिए.

Wifi डिवाइस एक वाई-फाई Network का निर्माण करता है जिसे हम Router कहते हैं. यह Divaes ब्रांडबैंड कनेक्शन के माध्यम से सूचना प्रदान या प्राप्त करने का कार्य करता है.

Wifi Router सभी Information को Radio waves के रूप में बदल देता है. इस उपकरण के द्वारा तरंगों को चारों ओर फैला देता है जिससे वायरलेस सिग्नल का एक एरिया बन जाता है जिसे हम WiFi जॉन के नाम से जानते हैं.

यह Wifi का एक छोटा सा क्षेत्र वॉयरलैस लोकल एरिया नेटवर्क का रूप ले लेता है. Computer, laptop, Mobile इन सभी में वाईफाई तकनीकी होती है जिसके माध्यम से हम वाई-फाई का सिग्नल प्राप्त कर सकते हैं.

हम एक घर में अच्छी नेटवर्क की स्पीड प्राप्त करने के लिए Wifi Router का उपयोग कर सकते हैं.

क्या सीखा ?

इस पोस्ट में हमारे द्वारा बताया गया है कि वाईफाई क्या है-what is Wifi in Hindi? आपने वाईफाई के बारे में विस्तार से जान लिया होगा.

हमें आशा है कि इस पोस्ट को पढ़ने से आपको wifi के बारे में पूरी जानकारी समझ में आ गई होगी. अब आपको वाईफाई के उपयोग में कोई भी परेशानी नहीं होने वाली है.

आपसे एक उम्मीद है कि आप इस पोस्ट को अपने दोस्त, facebook, group और अन्य सभी मित्र और सोशल मीडिया पर शेयर कर उन तक पहुंचाएं.

यदि अगर आप कुछ भी बात और पहुंचना चाहते हैं तो हमें कमेंट के माध्यम से पूछ सकते हैं.

Leave a Comment