सॉफ्टवेयर क्या है और यह कितने प्रकार का होता है ?

सॉफ्टवेयर क्या है और यह कितने प्रकार का होता है ?

किसी भी तरह का कंप्यूटर बिना Software के अकेला कार्य नहीं कर सकता है. सॉफ्टवेयर क्या है (what is software in hindi)? Computer को कुछ कार्यों को करने के लिए प्रोग्राम और उपकरणों की आवश्यकता होती है. यह उपकरण कंप्यूटर को कार्य करने योग्य बनाते हैं.

Computer पर किसी विशेष कार्य को करने के लिए Software की आवश्यकता होती है. हम इस पोस्ट में आपको Software के प्रकार व उपयोग के बारे में विस्तार से समझाएंगे.

Software क्या होता है ?

सॉफ्टवेयर एक प्रोग्राम और निर्देशों का समूह होता है जो Computer को किसी विशेष कार्य को पूरा करने का आदेश प्रदान करता है. Software किसी उपयोगकर्ता को कंप्यूटर पर कार्य करने की शक्ति प्रदान करता है. इसके बिना कंप्यूटर के सभी भाग निर्जीव जैसे होते हैं.

Software को हम नहीं तो छू सकते हैं और नहीं उसे अपनी नंगी आंखों से देख सकते हैं. इसका कोई भौतिक अस्तित्व नहीं है. यह एक आभासी है जिसे केवल जाना या समझा जा सकता है.

यह भी पढ़ें-

1.Radio Online: रेडियो का आविष्कार कब हुआ किसने किया ?

2.SEO क्या होता है और सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन कैसे करें ?

3.माउस क्या होता है computer mouse के क्या उपयोग है ?

सॉफ्टवेयर के बिना Computer का कोई अस्तित्व नहीं है. इसके बिना हम कंप्यूटर पर विशेष कार्यों को नहीं कर सकते हैं. PC पर हर किसी कार्य को करने के लिए एक विशेष software की आवश्यकता होती है.

Notpad, Ms word, Photo editor आदि एक तरह के सॉफ्टवेयर ही होते हैं जो कि Computer में अलग-अलग कार्यों को पूरा करने के लिए बनाया जाता है.

सॉफ्टवेयर के प्रकार in Hindi ?

हम Computer का उपयोग विभिन्न प्रकार के कार्यों के लिए करते हैं तथा इस तरह के सभी कार्यों को करने के लिए एक Software की आवश्यकता होती है.

सभी विशेष कार्य के लिए अलग-अलग सॉफ्टवेयर का निर्माण किया जाता है.

सामान्यतः को दो भागों में बांटा गया है-

1.System Software
2.Applaction Software

1.System Software

सिस्टम सॉफ्टवेयर वह सॉफ्टवेयर होता है जो कि Hardware का Control और प्रबंधन करता है. यह Hardware और Software के मध्य क्रियाशील होता है.

सिस्टम Software कई प्रकार के होते हैं-

1.1 Operating system

ऑपरेटिंग सिस्टम एक तरह का Computer प्रोग्राम होता है जो कि अन्य कंप्यूटर के प्रोग्रामो का संचालन और नियंत्रण करता है. Oprating system, Computer उपयोगकर्ता और कंप्यूटर के बीच निकटता का कार्य करता है. यह हमारे द्वारा दिए गए निर्देशों को Computer भाषा में बदलता है.

oprating system के कुछ नाम नीचे दिए गए हैं.

(1) Linux
(2) Windows OS
(3) Android
(4) Mac OS

1.2 Utility Programs

यूटिलिटी का दूसरा नाम सर्विस प्रोग्राम होता है. यह Computer मे संसाधनों का प्रबंधन और सुरक्षा के कार्य करते हैं. परंतु यह Hardware से सीधे नहीं जुड़े होते हैं. Anti Virus प्रोग्राम Utility Program होते है.

1.3 Device Drivers

ड्राइवर एक विशेष प्रकार का प्रोग्राम होता है जो कि आउटपुट और इनपुट उपकरणों को Computer से जोड़ने का कार्य करते हैं. यह कंप्यूटर में संचार कराने के लिए होते हैं. Motherboard, Garphic, Video Drivers आदि.

2.Applaction Sodtware

एप्लैक्शन सॉफ्टवेयर को एंड यूजर के नाम से भी जाना जाता है क्योंकि इसकी सीधी जानकारी उपयोगकर्ता से होती है इसे हम Short में ‘Apps’ भी कहते हैं. अनुप्रयोग प्रक्रिया सामग्री कोई विशेष कार्य को करने की छूट देती है.

1.1 Basic Applaction

सामान्य Application को सामान्य उद्देश्य सॉफ्टवेयर के नाम से भी जाना जाता है. यह सामान्य कार्य में प्रयोग किए जाने वाला सॉफ्टवेयर होता है. इनका उपयोग हम रोज के कार्यों में प्रयोग में लेते हैं.

किसी भी उपयोगकर्ता को Computer पर कार्य करने के लिए सामान्य एप्लिकेशन का उपयोग करना चाहिए.

कुछ सामान्य उद्देश्य सॉफ्टवेयर-

DTP Programs
Multimedia Programs
Word Processing Programs
WebDesign Application
Spreadsheet Programs

1.2 Specialized Application

इनमें Application को विशेष उद्देश्य सॉफ्टवेयर भी कहा जाता है. इस तरह के software को विशेष कार्य के लिए बनाया जाता है. इन सॉफ्टवेयर का use किसी खास work को निर्देशित करने के लिए करते हैं.

कुछ विशेष उद्देशिय सॉफ्टवेयर-

Billing
Accounting
Reservation
Report Card

Software कैसे बनाते हैं in Hindi ?

Computer software को बनाना कठिन कार्य जैसा होता है. इस कार्य को पूरा करने के लिए आपको Programing भाषा का ज्ञान होना जरूरी है. तभी आप एक अच्छा खासा सॉफ्टवेयर बना सकते हैं.

Software को बनाने के लिए इस समय में बहुत ही भाषाओं का निर्माण किया गया है जिसकी मदद से आप अपनी जरूरत के अनुसार सॉफ्टवेयर को बना सकते हैं.

यदि आप एक सामान्य software बनाना चाहते हैं तो आपको किसी एक भाषा का ज्ञान होना जरूरी है जैसे- HTML, Java, c+, c++, paython आदि.

क्या सीखा ?

इस पोस्ट में हमारे द्वारा बताया गया है कि सॉफ्टवेयर क्या है-what is software in Hindi? आपने सॉफ्टवेयर के बारे में विस्तार से जान लिया होगा.

हमें आशा है कि इस पोस्ट को पढ़ने से आपको पूरी जानकारी समझ में आ गई होगी.

अब आपको सॉफ्टवेयर के उपयोग में कोई भी परेशानी नहीं होने वाली है और आप software सरलता से उपयोग कर सकेंगे.

आपसे एक उम्मीद है कि आप इस पोस्ट को अपने दोस्त, facebook, group और अन्य सभी मित्र और सोशल मीडिया पर शेयर कर उन तक पहुंचाएं.

यदि अगर आप कुछ भी बात और पहुंचना चाहते हैं तो हमें कमेंट के माध्यम से पूछ सकते हैं.

1 thought on “सॉफ्टवेयर क्या है और यह कितने प्रकार का होता है ?”

Leave a Comment